Saturday, June 19, 2021

दुकान पर शटर के मास्क

 कल सुबह बाहर निकले। गाड़ी से। लाकडाउन खुल गया है। शहर उससे भी ज्यादा खुल गया।

सड़कों पर लोग आ-जा रहे थे। जितने लोग मास्क लगाए थे उससे ज्यादा लोग मुंह खोले घूमे रहे थे।
गांवों में लोग सड़क पर ऐसे बैठे थे जैसे पीढ़े पर बैठे हों। सड़क की तरफ पीठ करके बैठे होने से लग रहा था मानों गतिमान जिंदगी के खिलाफ अनशन किये बैठें हों। भागता रहे सड़क पर समय, अपन तो यहीं ठहरकर बैठे हैं। समय को खूंटे पर बांधकर अपने सामने मुर्गा बनाकर बैठे हैं।
एक बुजुर्ग प्लास्टिक की खाली बोतल को हिलाते हुए बहकता हुआ सड़क पर चला जा रहा था। 'दिव्य निपटान' की जंग जीतने की खुशी उसके चेहरे पर झंडे की तरह फहरा रही थी।
गांवों के बाहर सड़क किनारे उपलों के त्रिभुजाकार चट्टे लगे थे। छप्परों से पानी गुजरकर जमीन गीली कर रहा था। पानी जमीन की छाती में घुसकर घरवापसी का सुख लूट रहा होगा। जमीन के चेहरे पर वात्सल्य की आभा दिख रही थी।
शहर की सब दुकाने बन्द थीं। दुकानों के शटर दुकानों के चेहरे पर मास्क की तरह लगे हुए थे। मजाल कि कोई दुकान बिना शटर मास्क के दिख जाए। इंसान से ज्यादा समझदार दुकानें हैं। इसीलिए किसी भी दुकान को कोरोना होने की खबर नहीं आई।
बसस्टैंड पर एक बच्ची रस्सी पर चलने का करतब दिखा रही थी। सर पर मिट्टी के घड़े रखे , सन्तुलन के लिए हाथ में लाठी पकड़े वह रस्सी पर चल रही थी। रस्सी उसके हर कदम पर हवा में ऊपर नीचे हो रही थी। इधर-उधर बिखरे लोग उचटती निगाहों से बच्ची के इस करतब को देख रहे थे।
एक बच्ची जिसको उसकी उम्र के हिसाब से स्कूल में होना चाहिए था , अपने परिवार का पेट पालने के लिए , जान जोखिम में डालकर करतब दिखा रही थी। लोग भी अनमने भाव से ही सही उसको देखा, अनदेखा करते हुए इसको चलने दे रहे थे। एक समाज के लिए इससे बुरी बात क्या होगी कि उसके बच्चे पेट की आग बुझाने के लिए जिंदगी दांव पर लगा दें। अफसोस कि हम लोग इस सबको सामान्य मानकर अनदेखा करते रहते हैं।
हमने भी ऐसा ही किया। उचटती निगाह से बच्ची के करतब को देखते हुए आगे निकल गए।
सड़कों के दोनों ओर लोग आमों के ढेर लगाए बैठे थे। दशहरी आम। आसपास के गांवों के लोग होंगे वे। सड़क पर गुजरते लोग इनसे आम खरीद रहे थे। जवान, तगड़े, गबरू आम ढेर में जमा अपने बिकने का इंतजार कर रहे थे।
आपने आम खाये इस बार ? न खाये हों तो खाइये। बारिश के बाद आम कम हो जाएंगे। लेकिन आम खाने के बाद पानी मत पीजियेगा। ठीक।

https://www.facebook.com/anup.shukla.14/posts/10222538849753451

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative