Tuesday, April 29, 2008

प्रत्यक्षा जी को पितृशोक

http://web.archive.org/web/20140419214348/http://hindini.com/fursatiya/archives/429

प्रत्यक्षा जी को पितृशोक


प्रत्यक्षा के पापा
आज अभी कुछ देर पहले प्रत्यक्षाजी की मेल मिली। दुखद समाचार था। उनके पापा एक लम्बी बीमारी के बाद नहीं रहे।
उनके पापाजी पिछले साल से लगातार किसी न किसी बीमारी से परेशान थे। अंतत: वे 27 अप्रैल की रात को दुनिया से विदा हो गये।
अपने पापा के बारे में प्रत्यक्षाजी ने लिखते हुये एक पोस्ट लिखी थी यादों की गठरी और सन्दूक भर तस्वीरें। उन्होंने लिखा था-


अभी भी कुछ दिन पहले एक पैकेट कूरियर से आया जिसमें चिट्ठी के अलावा मेरे बचपन की कुछ और तस्वीरें थीं. मेरे बच्चों को बहुत मज़ा आया उनको देखने में . खैर, जब माँ और पापा को कहा था वो तस्वीर खोजने को तो मुझे बहुत उम्मीद नहीं थी कि ये मिल ही जायें. पर दो दिन बाद ही उनका फ़ोन आ गया. कई बक्सों और सन्दूकों को खंगालने के बाद उन्होंने आखिर वो तस्वीर खोज निकाली थी. फ़िर तुरत कूरियर भी कर दिया.
ये पैकेट जब खोला , तस्वीरें देखीं तो आँखें भर आईं. बस आँसू उमडते गये. बच्चे परेशान हैरान. संतोष उस वक्त घर पर नहीं थे, वरना मुझे संभाल लेते. खूब रोयी उस दिन. पता नहीं क्या लग रहा था . कुछ छूटने का सा एहसास था, कुछ पाने का सा एहसास था, एक मीठी उदास सी टीस थी. फ़िर कुछ देर बाद जी हल्का हुआ. रात में संतोष ने उन्हें फ़ोन किया और हँसते हुये मेरे रोने के बारे में बताया. मैं क्यों रोई ये मैं उन्हें क्या बताती पर शायद उन्हें पता होगा .

पिछले दिनों शायद वे अस्पताल में ही थे जब प्रत्यक्षाजी ने यह पोस्ट लिखी थी।
आज दुख की इस घड़ी में अपनी और अपने तमाम साथियों की तरफ़ से प्रत्यक्षाजी और उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। ईश्वर उनको और उनके परिवार को इस विकट दुख को सहने की शक्ति प्रदान करे। उनके पापा को हमारी विनम्र श्रद्धांजलि।

40 responses to “प्रत्यक्षा जी को पितृशोक”

  1. डा० अमर कुमार
    इस दःख की घड़ी में, ईश्वर उनको धैर्य दे ।
    शोक संतप्त परिवार को सांत्वना देने के
    शब्द मुझे नहीं सूझ पाते ।
    परमपिता के प्रश्रय में पिताजी को शांन्ति मिले ।
  2. समीर लाल
    प्रत्यक्षाजी और उनके परिवार के प्रति संवेदना एवं उनके पिताजी को हमारी विनम्र श्रद्धांजलि.
  3. mehek
    pratyaksha ji ke pitaji ke bare mein padhkar bada hi dukh hua,unke parivar ke saath hamari bhi sahanubhuti hai,unke papaji ko hamari aur se vinamra abhivadhan aur shraddha suman arpit.
  4. kakesh
    हमारी भी श्रद्धांजली.
  5. दिनेशराय द्विवेदी
    इन क्षणों में हम भी प्रत्यक्षा जी के साथ हैं।
  6. atul
    दुखद समाचार. हमारी भी विनम्र श्रद्धांजलि.
  7. bhuvnesh
    प्रत्‍यक्षाजी के पिताजी को मेरी श्रद्धांजलि.
    ईश्‍वर उन्‍हें इस दुख की घड़ी में संभाले रखे.
  8. नितिन बागला
    हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।
  9. अजित वडनेरकर
    दिवंगत आत्मा को प्रभु अपनी शरण में लें। परिजनों को कठोर दुख सहने की शक्ति मिले यही प्रभु से कामना है।
  10. Sanjeet Tripathi
    दुखद!
    हमारी श्रद्धांजलि!!
  11. ghughutibasuti
    प्रत्यक्षा जी के साथ मेरी संवेदनाएँ हैं । माता या पिता का जाना हमें अपनी उम्र व अकेलेपन का एहसास कराता है । उनके पिताजी को मेरी श्रद्धाजंली ।
    घुघूती बासूती
  12. लावण्या
    प्रत्यक्षा जी तथा उनके परिवार को ईश्वर यह आघात सहने की शक्ति देँ
    उनके पिताजी के प्रति मेरे परिवार की श्रध्धाँजलि !
    - लावण्या
  13. गीत चतुर्वेदी
    विनम्र श्रद्धांजलि. प्रत्‍यक्षा और पूरे परिवार को दुख की यह घड़ी सहने की ताक़त मिले.
  14. Gyan Dutt Pandey
    पिता का जाना तो छत्र-छाया उठने जैसा होता है। दुखद।
    श्रद्धांजलि।
  15. उन्मुक्त
    मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।
  16. हर्षवर्धन
    श्रद्धांजलि। प्रत्यक्षाजी भगवान संबल दे।
  17. vijaygaur
    विनम्र श्रद्धांजलि.
  18. नितिन व्यास
    प्रत्यक्षा जी और उनके परिवार को ईश्वर यह आघात सहने की शक्ति देँ
    उनके पिताजी को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि !
  19. yunus
    हमारी ओर से भी विनम्र श्रद्धांजली ।
  20. सुजाता
    दुखद समाचार अभी मिला ।
    पिताजी की नाज़ुक तबीयत से वाकिफ थे और बहुत डरा हुआ वक़्त था यह ।
    ईश्वर प्रत्यक्षा जी व अन्य परिवारजनों को इस दुख से बाहर आने की शक्ति प्रदान करें ।
  21. संजय पटेल
    जब तक बुज़ुर्गों का साया हमारे सर पे है
    हम अपनी उम्र से छोटे दिखाई देते हैं
    स म वे द ना एँ.
  22. संजय बेंगाणी
    दुख हुआ. विनम्र श्रद्धांजलि.
  23. आलोक
    ईश्वर दिवङ्गत आत्मा को शान्ति दे।
  24. प्रियंकर
    श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं . उनकी आत्मा को शांति मिले . दुख की इस घड़ी में हमारी संवेदना प्रत्यक्षा जी के साथ है .
  25. Dr.Anurag Arya
    इश्वर उन्हें व उनके परिवार को इस दुःख से लड़ने की शक्ति प्रदान करे …….
  26. parulk
    विनम्र श्रद्धांजलि.
  27. Rajesh Roshan
    हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।
  28. arun aditya
    श्रद्धांजलि… हमारी संवेदनाएं प्रत्‍यक्षा जी और उनके परिवार के साथ हैं।
  29. vimal verma
    पिताजी को हमारी भी विनम्र श्रद्धांजलि..
  30. अरूण
    भगवान उन्हे और उनके परिवार को इस दुख की घडी मे साहस प्रदान करे
  31. abha
    ऊपर वाला जब दुखदेता है तो उसे सहने की ताकत भी देता है इस तकलीफ मे मैं प्रत्यक्षा के साथ हूँ , पिताजी को मेरी नमन ।
  32. neelima
    उनके पिताजी को मेर%
  33. neelima
    उनके पिताजी को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि !
    प्रत्यक्षा जी और उनके परिवार को ईश्वर यह आघात सहने की शक्ति देँ
  34. anuradha srivastav
    दुख की इस घड़ी में हमारी संवेदना प्रत्यक्षा जी के साथ है . उनके पिताजी को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि
  35. mamta
    प्रत्यक्षा जी के पिता जी को हमारी विनम्र श्रद्धांजलि.
  36. अनिल रघुराज
    ईश्वर प्रत्यक्षा को इस दुख से निकलने की ताकत दे। बेटियां बाप से कुछ ज्यादा ही जुड़ी होती हैं। इसलिए उनके लिए बाप की जुदाई से निपटना बहुत मुश्किल होता है।
  37. Manish
    दुखद समाचार. विनम्र श्रद्धांजलि
  38. अनूप भार्गव
    पिता जी को श्रद्धांजली और प्रत्यक्षा के लिये प्रार्थनाएं ।

    रजनी और अनूप
  39. हिंदी ब्लॉगर
    हमारी विनम्र श्रद्धांजलि! ईश्वर प्रत्यक्षा जी को ये दुख सहने की ताक़त दें.
  40. : फ़ुरसतिया-पुराने लेखhttp//hindini.com/fursatiya/archives/176
    [...] प्रत्यक्षा जी को पितृशोक [...]

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative