Sunday, November 18, 2012

बुजुर्गवार चल दिये आखिरी सफ़र पर

मछली बेंची कभी औ अरबों में खेला,
मछली सा भुना औ विदा हो गया।

बुजुर्गवार चल दिये आखिरी सफ़र पर,
हल्ला हुआ- शेर गया, सम्राट गया।
-कट्टा कानपुरी

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative