Monday, April 30, 2012

सचिन राज्यसभा में- कुछ सीन

http://web.archive.org/web/20140419213936/http://hindini.com/fursatiya/archives/2917

सचिन राज्यसभा में- कुछ सीन

पता चला कि सचिन रमेश तेंडुलकर का नाम राज्यसभा के लिये प्रस्तावित हो गया। अलग-अलग लोग इस पर अलग-अलग बयान जारी कर रहे हैं। कोई कह रहा है कि सचिन को वहां जाना चाहिये कोई कह रहा है कत्तई नहीं जाना चाहिये।
अब लोगों को कौन समझाये कि सचिन अपनी मर्जी से कहां जा पाते हैं कहीं। शुरु में वे टेनिस खिलाड़ी बनना चाहते थे लेकिन आ गये क्रिकेट में। क्रिकेट में भी वे तेज बालर बनना चाहते थे लेकिन बनना पड़ा बल्लेबाज। बूस्ट और तमाम चीजें बेचने का काम कौन वे अपने मन से करना चाहते होंगे लेकिन कर रहे हैं। राज्यसभा लिये भी कौन उन्होंने इस्टाम्प पेपर पर लिख कर दरखास्त दी होगी कि हमें बनाओ मेम्बर। अब जब लोगों ने नामित कर दिया तो बनना पड़ेगा। देश के लिये क्या-क्या त्याग नहीं करने पड़ते हैं लोगों को। मजबूरी जो न कराये।
सचिन के राज्यसभा मेम्बर बनने से क्या फ़ायदे-नुकसान होंगे इसका आंकड़ा तो सचिन के स्कोरर रखेंगे। लेकिन कुछ सीन इस तरह के बन सकते हैं:
  1. सचिन के राज्यसभा में पहुंचने से जनप्रतिनिधियों को नयी प्रेरणा मिलेगी। सचिन पहले ही बयान जारी कर चुके हैं कि उनको जब तक मजा आयेगा क्रिकेट खेलते रहेंगे। उनसे प्रेरणा लेकर बुजुर्ग जनप्रतिनिधि बयान जारी कर सकते हैं- जब तक देश सेवा में मजा आता रहेगा, अपन देश सेवा करते रहेंगे। खबरदार जो किसी ने मेरे रिटायरमेंट की बात चलाई।
  2. सचिन अपने ऊपर लगाये हर सवाल का जबाब बल्ले से देते आये हैं। वैसे तो वे अपना राज्य सभा का कार्यकाल इंशाअल्ला क्रिकेट खेलते ही गुजार देंगे लेकिन अगर कभी कोई सवाल उनसे पूछा भी गया तो वे कह देंगे कि मैं हर सवाल का जबाब अपने से देता हूं। मेरा बल्ला मंगाइये तो जबाब दूं। सुरक्षा कारणों से ऐसा होगा नहीं और वे बयान देने से बच जायेंगे।
  3. सचिन के राज्य सभा में पहुंचने से सबसे ज्यादा परेशानी अन्ना की टीम को होगी। वे अब एक सांस में नहीं कह सकेंगे कि सदन में सब भ्रष्टाचारी हैं। उनको सचिन को अपवाद में डालने के लिये अपना आरोप-नारा लम्बा करना पड़ेगा। और यह तो आपको भी पता है कि जब आरोप-नारा लम्बा हो जाता है तो उसकी ताकत कम हो जाती है।
  4. सचिन खुदा न खास्ता कभी सदन गये भी तो वहां से नये शाट सीख कर बाहर आयेंगे। जिस तरह आरोपों के जबाब में प्रत्यारोप लगाये जाते हैं। ईरान की बात को तूरान से जोड़ा जाता है उससे सचिन को कोई न कोई नया शाट लगाने का तरीका जरूर सीखने को मिलने। कालान्तर में वह शॉट राज्यसभा शॉट के नाम से जाना जायेगा।
  5. क्या पता सचिन के सदन में पहुंचने से वहां के लोग विज्ञापन की दुनिया में आने लगें। इससे हो सकता है पैसे लेकर सवाल पूछने जैसी चिल्लर हरकतें करने के लिये मजबूर होने वाले जनप्रतिनिधियों का जीवन स्तर कुछ सुधर जाये। हो सकता है कि विज्ञापन की कमाई के चलते ही आगे चलकर छोटे-मोटे घपले कम हो जायें।
सीन तो रेखाजी के राज्यसभा का मेंबर बनने से भी कई खिंचते हैं। लेकिन एक रेखा जी एक तो भली हीरोइन हैं और दूसरे हम आजकल उनके संपर्क में नहीं है इसलिये उनके बारे में हमारा कुछ कहना शोभा नहीं देता। इसलिये उनके बारे में सीन आप अपनी कल्पनाशीलता से खैंचिये।

चलते-चलते

दो दिन पहले ज्ञानजी ने फ़ेसबुक पर अपने पुत्र की सगाई की मंगलमय सूचना दी। कई सालों पहले एक ट्रेन दुर्घटना में उनके पुत्र के सिर में चोट लगने से पूरा परिवार परेशान था। ज्ञानजी का ब्लागजगत से भी जुड़ने का एक कारण हिंदी में शिराघात की जानकारी देने वाली साइट बनाने का उद्देश्य था। समय और उपचार के बाद धीरे-धीरे ज्ञानजी का पुत्र ठीक हुआ। एक पोस्ट में ज्ञानजी ने अपने लड़के के गंगा-सफ़ाई अभियान पर जाने की सूचना दी। अब इसके बाद ज्ञानजी के पुत्र की सगाई का सुखद समाचार सुनकर बहुत अच्छा लगा। पूरे परिवार को इस मंगलमय अवसर पर बधाई। कामना है कि बच्चों का वैवाहिक जीवन मंगलमय हो।
वैसे ससुर बनने के बाद ज्ञानजी के लिये चुनौतियां बढ़ जायेंगी। उनके ऊपर सतीश सक्सेना जी जैसा अच्छा/भला ससुर बनने का दबाब होगा। अपने सतीश जी जितने अच्छे ससुर साबित हो रहे हैं उससे लगता है कि ताज्जुब नहीं कि नेट/ब्लागजगत से जुड़ी बच्चियां जो उनकी पोस्टें पढ़ती हैं वे कल को कहने लगें-हमारा फ़ादर इन लॉ कैसा हो, सतीश सक्सेना जैसा हो। :)

63 responses to “सचिन राज्यसभा में- कुछ सीन”

  1. संतोष त्रिवेदी
    भारत-रत्न न बनने का खामियाजा राज्यसभा को झेलना ही पड़ेगा.वैसे सचिन तो चुनाव जीतकर भी संसद में पहुँच सकते हैं.राज्यसभा में जाना और राज्यपाल बनना तो वफादारों के लिए पूरी तरह आरक्षित हो जाने चाहिए !
    …ससुर बनने की प्रक्रिया में लगे ज्ञान जी को बधाई और सतीश जी तो खुद को सिद्ध कर ही चुके हैं !
    रेखा के बारे में ट्विटर पर यह पढ़ने को मिला…
    ‘जो काम अमिताभ नहीं कर पाए ,सरकार ने रेखा और जया को एक हाउस में लाकर वह कर दिखाया है !’
    संतोष त्रिवेदी की हालिया प्रविष्टी..उभार की सनक या बिकने की ललक !
  2. सतीश सक्सेना
    अगर नारा ही देना होगा तो बेहतर होगा की वे कहें …
    हमारा पापा कैसा हो

    हम अक्सर दो चेहरे लिए होते हैं , बहु को बेटी जैसा रखेंगे और दामाद तो हमारे लड़के जैसा है मगर जब वही कर दिखाने की बात आती है तो बेटी को कैप्री( मिड काफ पैंट ) अच्छी लगती है मगर बहु को शोभा नहीं देता, दामाद के साथ नाटक कितना होता , सबको पता है !
    यह रिश्ते हमारी सामाजिक मजबूती की पोल खोलते हैं, इनका तिरस्कार/ बहिष्कार होना चाहिए, मगर उसके लिए हमें अपने गिरेबान में झांकना होगा !
    सादर
    सतीश सक्सेना की हालिया प्रविष्टी..मैंने तो मन की लिख डाली ( भूमिका मेरे गीत की )
  3. सतीश सक्सेना
    अगर आपका बस चला तो सचिन से जवाब बल्ले से ही दिलवाओगे, मुझे भय है की सचिन कहीं आपको मेरी तरह गुरु ना मान ले ….
  4. चंदन कुमार मिश्र
    दूसरा-तीसरा मजेदार।
    वैसे सचिन महाराज राज्य सभा में जाएंगे कितने दिन साल में?
    सचिन राज्य सभा में देखेंगे(देखेगा) कि वह बेचारा कोई शॉट-वॉट नहीं जानता राज्यसभाइयों के सामने।
    वैसे इस मुद्दे पर मेरी खिसियानी टिप्पणी जो कुछ दिन पहले लिखी गयी है-
    ‘सचिन जैसों को राज्य सभा क्या, राज्य सभा के दरवाजे पर भी नही रहना चाहिए। लेकिन सब हो रहा है यहाँ। जो हैं, वे भी वैसे ही हैं। इसलिए सचिन जाये चाहे कोई गोबरगणेश, कोई फ़रक नहीं पड़ता’
    चंदन कुमार मिश्र की हालिया प्रविष्टी..स्वामी विवेकानंद का दूसरा पक्ष
  5. आशीष श्रीवास्तव
    हुज़ूर , आनंद आना शुरू हुआ और पोस्ट ख़तम हो गयी … :)
    लगता है फुरसतिया जल्दी में है ….
    बाकि सचिन के राज्यसभा में जाने पर नो कमेन्ट :D
    आशीष श्रीवास्तव
  6. Gyandutt Pandey
    आप रेखाजी से जब सम्पर्क में थे तब के सन्स्मरण ब्लॉग पर प्रस्तुत करें। वह हिन्दी ब्लॉगरी के लिये अनूठी बात होगी।
    सतीश सक्सेना जी तो ब्लॉग-रत्न हैं। उनकी बराबरी भला कौन कर सकता है! हमे अपनी क्षमताओं को ले कर कोई गलतफहमी नहीं है!
    Gyandutt Pandey की हालिया प्रविष्टी..लिमिटेड हाइट सब वे (Limited Height Sub Way)
    1. सतीश सक्सेना
      ज्ञान दत्त जी
      शुरू से जिनसे प्रेरणा लेता रहा हूँ, उनमे एक आप हैं और रहेंगे !
      आपसे एक शिकायत है कि आपने एक साधारण ब्लोगर के लिए ब्लॉग रत्न जैसा शब्द प्रयोग किया है यह मेरे लिए शर्मिंदा करने के लिए काफी है , अगर मुझसे आपकी शान में कभी गुस्ताखी हुई हो तो हार्दिक क्षमा याचना करता हूँ आशा है बड़े भाई की हैसियत से भुला देंगे !
      ब्लॉग जगत में एक से एक विद्वान कार्य रत हैं जिनको पढ़कर अपने आपको भाग्यशाली मानता हूँ ! यहाँ मेरे विचरण का उद्देश्य ही कुछ नया और अच्छा सीखना है जो काफी हद तक संभव हुआ है, कम से कम मैं यहाँ किसी से तुलना के लायक, अपने को नहीं मानता !
      सादर
      1. Gyandutt Pandey
        मैने जो लिखा उसमें रंचमात्र भी अतिशयोक्ति नहीं है। आपकी वह पोस्ट आपकी उत्कृष्ट व्यक्तित्व की झलक दिखाती है। बाकी एक अच्छे ब्लॉगर का विद्वान होना कतई जरूरी नहीं। उल्टे, विद्वान अगर सहजता नहीं रखता, तो स्तरीय ब्लॉगर नहीं हो सकता। आप विद्वानों से प्रेरणा लेने के फेर में न पड़िये। लोग आपसे प्रेरणा लेंगें/लेते हैं।
        Gyandutt Pandey की हालिया प्रविष्टी..लिमिटेड हाइट सब वे (Limited Height Sub Way)
        1. सतीश सक्सेना
          मेरी कोशिश रहेगी कि आपका स्नेह और अपनापन मिलता रहे , इस स्नेह के नाते आपसे कभी कभी मार्गदर्शन की अपेक्षा अवश्य रखूंगा !
          सादर
          सतीश सक्सेना की हालिया प्रविष्टी..मैंने तो मन की लिख डाली ( भूमिका मेरे गीत की )
  7. sanjaybengani
    हम आजकल उनके संपर्क में नहीं है
    क्या मतलब है इसका?
    sanjaybengani की हालिया प्रविष्टी..नितीश का मराठी प्रेम प्रशंसनीय है
  8. Ravindra Prabhat
    सही कहा आपने, सचिन अपने मन से कुछ भी नहीं करते …शायद अपने से आठ साल बड़ी पत्नी से प्यार भी वे अपने मन से नहीं करते होंगे, भगवान् जो ठहरे ! भगवान् हैं तो अंदाज़ जुडा होगा हीं ! खैर छोडिये इन बातों को, हमारे लिए तो महत्वपूर्ण है ज्ञान जी वाली सूचना…….ज्ञान जी को स्वसुर बनने की ढेर सारी बधाई !
  9. देवांशु निगम
    रेखा जी से संपर्क न होने का मुद्दा ज्ञान जी ने एक दम सही उठाया है , संस्मरण पेश करने की डिमांड हमारी तरफ से भी :) :) :)
    जितना मैंने समझने की कोशिश की है उससे तो यही लगता है की सचिन को राज्यसभा भेजना सोची समझी राजनीतिक चाल है | और अगर ये सही है तो इसे भारतीय खेलों के लिए किये गए गलत सरकारी निर्णयों में से एक कहा जायेगा |
    जब बड़े बड़े धुरंधर बैठे हैं तो एक खिलाड़ी जो अभी देश के लिए खेल रहा है उसे राजनीति में लाने की ज़रुरत गले नहीं उतरती !!! खैर अन्दर की कहानी या तो अन्दर के लोग जाने या भगवन जाने !!!! हम तो अब क्रिकेट का भी मजा ढंग से नहीं ले पायेंगे :( :( :(
    देवांशु निगम की हालिया प्रविष्टी..सखी वे मुझसे लड़ के जाते…
  10. Rekha Srivastava
    सचिन ही क्यों? वह कब खेल रहे होंगे और वह संसद का सत्र चल रहा होगा. शायद उसे राजनीति के क ख ग से भी मतलब नहीं है . ये दलों की राजनैतिक चाल है . वर्ना कितने मनोनीत सदस्य राजनीति में सक्रिय हो पाते हैं. एक सांसद की भूमिका कितने सांसद निभा पाते हैं फिर सचिन क वहां पहुँचाना बुरा तो नहीं लेकिन वह भी लता जी की तरह से वहां सांसद सिद्ध होंगे.
  11. चंदन कुमार मिश्र
    एगो सवाल और है कि क्या राज्यसभा क्यों है, उसका काम क्या है जैसे सवाल सचिन जैसों को इतना पता है कि उसमें ढुका दिया जाये इनको!
  12. शिव कुमार मिश्र
    बहुत बढ़िया पोस्ट.
    सचिन कहीं भी रहे जवाब तो बल्ला ही देगा. किसी ने बताया कि उनका मनोनयन राज्यसभा टीवी की टी आर पी पढ़ाने के लिए किया गया है.
    सक्सेना जी एक आदर्श ब्लॉगर हैं और एक आदर्श फादर-इन-ला भी. उनकी वजह से बाकी लोगों के ऊपर दबाव आ जाना संयोग की बात है.
    शिव कुमार मिश्र की हालिया प्रविष्टी..हम किरपा के बदले दसबंद नहीं देंगे आपको..
    1. Gyandutt Pandey
      सच में, सक्सेना जी की वो पोस्ट पढ़ कर टेन्शन सहज हो जा रहा है।
      Gyandutt Pandey की हालिया प्रविष्टी..लिमिटेड हाइट सब वे (Limited Height Sub Way)
  13. प्रवीण पाण्डेय
    सचिन ने राज्यसभा का आमन्त्रण भविष्य की किसी योजना के अन्तर्गत ही किया होगा, खेल को उनकी उपस्थिति से बल मिलेगा। ज्ञानदत्तजी निश्चय ही अच्छे ससुर सिद्ध होंगे, नया दायित्व है।
    प्रवीण पाण्डेय की हालिया प्रविष्टी..उन्होनें साथ निभाया
  14. arvind mishra
    सचिन पर गुड/ बैड राज्यसभा इंट्री पर तफ्सरा(पता नहीं उर्दू का यह शब्द मैंने ठीक से लिखा या नहीं ) और चलते चलाते तक आनंदमयी पोस्ट ….अपुन सतीश भाई निराले हैं -आप कहाँ अनुसरण लाईन में लग रहे हैं ! :) ?)
    arvind mishra की हालिया प्रविष्टी..वक्ष सुदर्शनाएँ!
  15. shikha varshney
    ओह हो हो ..बड़ा गंभीर मामला लगता है ..सतीश जी अपने को महान मानने को तैयार नहीं ..और अगर वह आम ही रहे तो बाकी लोगों की परेशानी जायज़ है …वह फिर ये नहीं कह पाएंगे की सतीश जी से तुलना न की जाये वे तो महान हैं ..:):),.
    shikha varshney की हालिया प्रविष्टी..उम्मीदों का सूरज.
  16. amit srivastava
    ये ‘इनला’ और ‘आउटला ‘ के चक्कर में क्यों फंसा दिया बेचारे “आईला” को |
    amit srivastava की हालिया प्रविष्टी.." स्मृति की एक बूंद मेरे काँधे पे……."
  17. dhirendra pandey
    सोंचिये सचिन के राज्य सभा में जाने कितने लोगों को चिंतन पथ मिला इससे साफ़ जाहिर है कि सचिन समाजसेवी हैं
  18. मनोज कुमार
    बढिया लगा बांच कर।
    ज्ञान जी को बधाई।
    मनोज कुमार की हालिया प्रविष्टी..गांधी जी की पहली सेक्रेटरी मिस सोंजा श्लेसिन
  19. aradhana
    गंदी बात , गंदी बात. सचिन भगवान हैं, उनका मजाक उड़ाना गंदी बात :)
    aradhana की हालिया प्रविष्टी..बाऊजी की बातें
  20. satyavrat shukla
    सचिन सबसे पहले नैतिकता के आधार पर पेप्सी की संसद के जलपान गृह में उपलब्धता का प्रश्न भी उठा सकते हैं जो की अभी प्रतिबंधित है ‘क्यूंकि वो इसके ब्रांड अम्बेसडर है|
    राज्यसभा में सचिन का अच्छा चित्रण किया है मौसा जी…….
    satyavrat shukla की हालिया प्रविष्टी..सोशल मीडिया-"आम आदमी की खास आदमी तक पहुचती आवाज़"
  21. Pankaj Upadhyay
    सचिन पर अब कोई बॉलर टिप्पणी भी नहीं कर सकेगा… सचिन कह सकेंगे कि ये सदन की अवमानना है…
    और बॉलर्स को ’कारण बताओ नोटिस’ भेज दिया जायेगा… :)
    हमेशा की तरह लाजवाब, गुदगुदाती हुयी पोस्ट…
    ज्ञानजी को ढेरों बधाईयां।
  22. देवेन्द्र पाण्डेय
    जब किसी ब्लॉग में आपके कमेंट की धमक-चमक दिखलाई पड़ती है तो अंदाजा हो जाता है कि फुरसतिया में जोरदार बारिश हुई होगी।
    सचिन के सदन में भेजने वाले उनके लिए बल्ले का जुगाड़ कर ही देंगे। जब कभी विपक्ष की बॉलिंग शुरू होगी सब के सब सचिन को बल्ले सहित आगे कर बोलेंगे…जनता की समस्याओं को बाउंसर बना कर और फेंको बच्चू.. हमारे पास सचिन है। विपक्ष की भलाई इसी में है कि वे भी इसके मुकाबले दो चार तेज गेंदबाज जुटा लें । सदन में भेजने के लिए।
    आदरणीय ज्ञानदत्त जी को जैसी शुभकामनाएं आपने दीं वैसी शुभकामनाएं तो कोई मित्र नहीं दे सकता। मेरा मतबल दूसरा मित्र नहीं दे सकता। अच्छे ससुर वाली पोस्ट का तोहफा और भयानक नारा लगाती बहू। दोनो बड़े बजुर्ग हैं इसलिए मैं तो कोई शरारत नहीं कर सकता। आप हिम्मत वाले हैं..बधाई। :)
    रेखा जी आजकल आपके क्या मेरे संपर्क में भी नहीं हैं।:)
    इस पोस्ट में एक साथ कई बातें समेटने का प्रयास किया गया है। आलोचना करनी हो तो यह कहा जा सकता है कि शब्दों का चतुर व्यापारी एक रूपय्यै में तीन अठन्नी भजाने का प्रयास कर रहा है।:)
    1. Gyandutt Pandey
      कोई भी बेचैन व्यक्ति इतना शानदार कमेण्ट नहीं दे सकता। मेरा मतलब है कि वह अपनी बेचैनी में ही लटपटाया रहेगा! :-)
      Gyandutt Pandey की हालिया प्रविष्टी..लिमिटेड हाइट सब वे (Limited Height Sub Way)
  23. sanjay aneja
    सचिन बल्ले से अपने विरोधियों को जवाब देता है. सही करता है और अगर आगे भी ऐसी आदत बनी रहे तो और भी सही है| कितना मजा आ जाए कि दूसरी कोइ पार्टी लिम्बा राम, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, अनुभव बिंद्रा, दिलीप सिंह @ खली द ग्रेट जैसे विकल्पों पर विचार करें| इस मुद्दे पर अनन्य की क्या फीडबैक है?
    ज्ञानदत्त साहब को हार्दिक बधाई,
    सतीश सक्सेनाजी जिंदाबाद जिंदाबाद..
    sanjay aneja की हालिया प्रविष्टी..कीमत चुकता….
  24. sanjay jha
    अपन भी सचिन को भगवान ही मानते हैं………..सो, नो कमेन्ट. बस एक डर लग रहा……. गर, कल को कोई जनता का सेवक, उनसे प्रेरणा लेकर ये कहे…………..”ख़बरदार जो कोई हमारे री-टा-यर होने की बात करे…..हम्मे जब तक देश सेवा करने में मजा आएगा, तब तक हम री-टा-यर नहीं होंगे”………………
    दद्दा के आगे स्वसुर बन-ने के लिए अग्रिम सुभ:कामनाएं………….और आपका, उनके लिए अच्छे स्वसुर बन-ने के सन्दर्भ में चिंतित होना सहज ही है, खास कर जब कॉम्पिट-एनसी सतीश भाईजी से हो……………….
    बकिया, आपके मोजिये पोस्ट पर भाई देवेन्द्रजी के मजेदार कमेन्ट अच्छा गुद-गुदाया….
    प्रणाम.
  25. Ranjana
    ये क्या भाई जी, इतना संक्षिप्त विवरण….इतने कम सीन दिखा निपटा दिया आपने …और रेखा मौसी को तो ऐसे ही छोड़ दिया…ये तो बड़ी तरफदारी वाली बात हुई…
  26. हरभजन सिंह बड़बोले
    खूब चौके-छक्के मारे गुरु आपने! सचिन पढ़ लें तो कदम बोसी करने लगें :)
    “हमारा फ़ादर इन लॉ कैसा हो, सतीश सक्सेना जैसा हो।” गज्ज़ब नारा ईजाद किये हैं आप . बहुत भले आदमी लगते हैं सतीश भैया :) ज्ञान जी और उनके बेटे को बधाई शुभकामनाओं के साथ :)
  27. vineeta sharma
    हम तो भाई रेखा जी के टच में हैं बराबर :)
  28. समीर लाल "पुराने जमाने के टिप्पणीकार"
    ज्ञान जी एवं उअन्के परिवार को बधाई एवं शुभकामनाएँ..
    समीर लाल “पुराने जमाने के टिप्पणीकार” की हालिया प्रविष्टी..सेन फ्रेन्सिसको से कविता…
  29. suresh
    कृपया यह भी पता करने की कोशिश कीजिए कि राज्यसभा में जाने के बाद सचिन के “एण्डोर्समेण्ट का भाव” बढ़ेगा या घटेगा?
    क्योंकि ऐसी बातें तो आप तक जल्दी पहुँचती हैं प्रभु… शायद रेखा को ही पता हो, “जरा टच” तो कीजिए… :)
  30. dhiru singh
    ब्लोगर एक सामाजिक प्राणी है और सामाजिक जीवन में निजता का कोई स्थान नहीं . आप तो पहले से ही और अब रेखा जी भी सामाजिक हो गई . :-)
    dhiru singh की हालिया प्रविष्टी..कैसी कही
  31. फ़ुरसतिया-पुराने लेख
    [...] सचिन राज्यसभा में- कुछ सीन [...]
  32. Elliott Kushiner
    hi!,I like your writing very much! share we communicate extra about your post on AOL? I need an expert in this house to unravel my problem. May be that is you! Looking ahead to look you.
  33. try this site
    What exactly simplest way to find sites you are looking at?
  34. Fender FA-100 Review
    Just wanna remark on couple of common points, The internet site style is perfect, the subject matter is rattling good
  35. Telewizja n
    So, what exactly does “Toranoana” translate to in English?

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative