Friday, April 21, 2017

इस बार ये अंगूठा दिखायेंगे

नेता माइक पर दहाड़ा
-हम विकास करायेंगे।
जनता ने समझ लिया,
अब ये देश बेच खायेंगे।
वो दांत भींचकर बोले,
साम्प्रदायिकता मिटायेंगे।
पब्लिक दहल गयी,
ये ससुरे दंगा करायेंगे।
जनता बोली माई-बाप,
जहां कहो ठप्पा लगायेंगें।
नेता बेचारा डर गया सुनकर,
इस बार ये अंगूठा दिखायेंगे।
-कट्टा कानपुरी

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative