Sunday, May 21, 2017

बाद में लाइफ़ झिंगालाला

बड़ा बवाल है इधर-उधर,
जिधर देखो लफ़ड़ा उधर।
हर खबर में घुसा घपला,घोटाला,
फिर बाद में लाइफ़ झिंगालाला।
वो सिर्फ़ खबरें बुरी दिखाता है,
खुशी से मानो 36 का नाता है।
हल्ला बहुत गर्मी का सब तरफ़,
पर कोलतार अभी पिघला नहीं।
अभी तो बाकी हैं लू के जलवे,
पारा अभी तो और उचकना है।
-कट्टा कानपुरी

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative