Saturday, November 26, 2005

हेलो हायकू टेस्टिंग



लिखोगे कुछ
कविता सविता में,
ऊट-पटांग?
मन नहीं है
कविता लिखने का
बड़ा हैरान!
अजीब बात
कह रहे हो यार
लिखोगे नही?
लिखूंगा भाई,
अभी देख रहा हूं
कैसा लगेगा!
कैसा लगेगा
यदि हायकू लिखूं
-सिर्फ हायकू.
लम्बे वाक्य
हाहा,हीही,हेहे व
मजा आ गया!
ये सब कुछ
कैसे लिखा जायेगा
इस विधा में?
टेस्टिंग है ये
हेलो हेलो टाइप
बस टेस्टिंग
असली माल
बाद में ही आयेगा
मजा आयेगा.
अभी बताओ
ये कइसा लगेगा
ठीक रहेगा?
कैसा रहेगा
हायकू में व्यंग्य
हास्य लिखना?
खिंचाई होना
जीतू का ख्याल भी है
है कि नहीं ये?
प्रेम कविता
में हायकू कितना
समर्थ होगा?
कुछ ऐसा सा
कैसे कर होगा जी
चांद रोयेगा?
बहरहाल
इतना तो लिखा ही
अब बताओ.
आगे बढ़ायें
ये हायकू कथा को
या रुक जायें?
सच बताना
बुरा नहीं मानेंगे
रुक जायेंगे.
ये न कहना
ये हायकू नहीं हैं
दुख लगेगा.

15 responses to “हेलो हायकू टेस्टिंग”

  1. Pratik
    अगर यह
    कविता कहलाए तो
    हर कवि रोएगा
  2. sanjay bengani
    हास्य हाइकू ?
  3. Raman Kaul
    कोई पढ़े न पढ़े
    सोचो काइकू
    खूब लिखो हाइकू।
  4. kali
    होने दो अब
    हाीईकु में संवाद;
    जीतु जी काँपे
    चौकस मौज
    शब्द फूल समान !
    या होंगे काँटें
  5. Manoshi
    अरे बाप रे
    कैसे हैं ये हाइकु
    ये हाइकु हैं?
    सार्थक वो हैं
    दृश्य कोई दिखा दे
    तीन पँक्तियाँ
    हर पँक्ति हो
    संपूर्ण अपने में
    अर्थ सरल
    लँबी सी पँक्ति
    तोड तोड के लिखा
    हाइकु नहीं
    दिग्गज नहीं
    बाँट के सीखा है
    जितना जाना
    वैसे हिन्दी मेंहाइकु लिखने का सही नियम http://www.abhivyakti-hindi.org/rachanaprasang/2005/hindi_haiku.htm पर जगदीश व्योम ने बहुत अच्छे से बताये हैँ|
    –मानोशी
  6. अनूप भार्गव
    अब क्या कहें
    अच्छा नही लगेगा
    नाम राशि हैं
  7. अनूप भार्गव
    अनूप भाई
    मानोशी समझाये
    मान भी जाओ
  8. Anunad Singh
    अब पता चला कि स्वामी को कविता से इतनी चिढ क्यों है |
  9. आलोक कुमार
    हायकू नहीं सवालकू है ये
    है
    न?
  10. प्रत्यक्षा
    ऐसा जुलुम
    दुहाई सरकार
    रहम करें
    हायकू छोडो
    लेख लिखना भला
    समझा करो
    प्रत्यक्षा
  11. फ़ुरसतिया » धूप छू खिल उठे आपका मन
    [...] ना झटका हमारे दोस्तों को लगा हमारे हायकू टेस्टिंग से उससे कुछ ज्यादा ही झटका [...]
  12. प्रेमलता पांडे
    हाइ हाइहू
    लिख राखे हाइकु
    हाय हाय यूं?
  13. फ़ुरसतिया-पुराने लेख
    [...] 1.दीपावली खुशियों का त्योहार है 2.ढोल,गंवार,शूद्र,पशु,नारी… 3.तुम मेरे होकर रहो कहीं… 4.शरमायें नहीं टिप्पणी करें 5.बड़े तेज चैनेल हैं… 6.गुम्मा हेयर कटिंग सैलून 7.एक गणितीय कवि सम्मेलन 8.हेलो हायकू टेस्टिंग [...]
  14. : फ़ुरसतिया-पुराने लेखhttp//hindini.com/fursatiya/archives/176
    [...] 1.दीपावली खुशियों का त्योहार है 2.ढोल,गंवार,शूद्र,पशु,नारी… 3.तुम मेरे होकर रहो कहीं… 4.शरमायें नहीं टिप्पणी करें 5.बड़े तेज चैनेल हैं… 6.गुम्मा हेयर कटिंग सैलून 7.एक गणितीय कवि सम्मेलन 8.हेलो हायकू टेस्टिंग [...]

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative