Wednesday, July 02, 2014

भैयालाल मेहनत पर भरोसा करते हैं



भैयालाल को पांच साल पहले एक टैंकर ने ठोंक दिया। पैर चले। हौसला बरकरार है। सामने की पट्टी में कई साबुत शरीर वाले भीख मांगते हैं। भैयालाल मेहनत पर भरोसा करते हैं।बताया आमदनी से दाल रोटी चल जाती है।

हमको एक बार फिर याद आई यह बात- :"दम बनी रहे घर चूता है तो चूने दो।"


Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative