Monday, March 27, 2017

कैदी भिड़ गये जेल में

कैदी भिड़ गये जेल में, सबने काटा खूब बवाल,
रिश्वत बिन भर्ती न हुआ, वही हो गया लाल।
गुटका दफ़्तर में बैन हुआ, कैसे होगा अब काम,
’थूक-पीक’ बिन कौन विधि, बाबू देगा ’काम-अंजाम’।
सुना, हुई गुंडई बैन अब, ठेकेदारी पर भी लग गई रोक,
कुछ दिन को चुप नेतागिरी, फ़िर होंगे सम्राट अशोक।

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative