Sunday, May 13, 2018

आओ साथी चाय पिलाएं

चित्र में ये शामिल हो सकता है: कॉफ़ी कप
आओ साथी चाय पिलाएं

आओ साथी चाय पिलाएं,
थोड़ा बातें-सातें हो जाएं
गप्प लड़ायें ऊंची वाली
थोड़ी लंतरानी भी हो जाये।
बिल्ली उचकती ढाई टांग पर,
सूरज की किरणें दुलरायें,
बन्दर गड़बड़ काट रहे हैं,
उछल रहे हैं डाल-डाल पर।
हमने चाय पिलाई तुमको
अब थोड़ा सा फौरन मुस्काओ
चाय और स्वादिष्ट लगेगी
सुबह और खुशनुमा हो जाये।
-कट्टा कानपुरी

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative