Wednesday, January 15, 2014

हमारा काम रोशनी देना है

कल सूरज भाई कह रहे थे हम कोई तुम्हारे किसी प्रदेश के मुख्यमंत्री थोड़ी कि दस पैसे का काम करें और हजार का गाना गायें। फ़ोटू खिंचायें। हमारा काम रोशनी देना है, ऊर्जा देना है वो हम करते रहते हैं भले ही दिखें न दिंखें। परेशान न हुआ करो अगर चाय पीने तुम्हारे पास न आ पायें। हमने कहा वो तो ठीक है लेकिन भाई जिस दिन दिखते नहीं तो सूना लगता है। वो मुस्कराने लगे। बोले -बाते बहुत बना लेते हो। फ़ेसबुकिये हो गये हो पक्का।

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative