Wednesday, January 15, 2014

किरणें बेचारी बोर हो जाती हैं

सूरज भाई अभी आये नहीं। फोन करके पूछा कि आजकल आप सुबह रोज देर से क्यों आते हो तो वे बोले-- यार, तुम्हारे यहां सुबह टीवी पर कल के प्राइम टाइम का रिप्ले आ रहा होगा। सबमें अगला प्रधानमंत्री कौन पर बहस हो रही है। किरणें बेचारी बोर हो जाती हैं । तुमको तो पता है हम अपनी किरणों को कित्ता चाहते हैं। इसलिये जरा आराम से आते हैं आजकल।

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative