Thursday, February 06, 2014

थपड़ियाने का मौसम

#‎सूरज‬ भाई आज बडे मूड में थे। बोले यार तम्हारे यहां आजकल थपड़ियाने का बड़ा मौसम चल रहा है। सुना है कल किसी मुख्यमंत्री को किसी ने चटका दिया। एक को महिला को सांसद का टिकट न मिला तो उसने सरे मंच अगले को ठोक दिया। तुम लोगों को कुछ काम-धाम नहीं क्या मार-पीट के अलावा?

हम बोले -काम तो बहुत हैं भाई! लेकिन फ़िलहाल तो पूरा देश अगला प्रधानमंत्री चुनने में लगा है।
प्रधानमंत्री चुनने के बाद क्या करोगे तुम लोग? सूरज भाई ने पूछा।

हम क्या करेंगे जो करना होगा प्रधानमंत्री ही करेगा। अपन तो फ़िर से अगला प्रधानमंत्री चुनने में लग जायेंगे! और इसके अलावा क्या काम कर सकते हैं भला हम?

किरणें यह सुनते ही दूर जाकर खिलखिलाने लगीं। सूरज भाई मुस्कराते हुये चाय पीते रहे। चारो तरफ़ उजाला फ़ैलता जा रहा है।

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative