Saturday, April 26, 2014

ठेले पर हिमालय नहीं भाई आलू



ठेले पर दो बोरा आलू जैसे पुस्तक मेले में विमोचन के लिए ले जाती दो किताबें। ऐसे ही एक बेतुकी सोच!
पसंदपसंद · · सूचनाएँ बंद करें · साझा करें

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative