Monday, September 15, 2014

पुलिया देवी तो इच्छाधारी निकलीं


सर पर रखे लकड़ी के पटरे/चौकी पर मूर्तियां रखीं होंगी जब ये बाजार गयी रही होंगी। लौटते समय सर पर बोझ कम हो गया।

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative