Friday, September 11, 2015

बच्चा भोपाल मत जाईयो, बहुत होयगा तंग

सतगुरु हमस्यूं रीझि कर, एक कह्या प्रसंग,
बच्चा भोपाल मत जाईयो, बहुत होयगा तंग।

बहुत होयगा तंग, इधर-उधर तू भटकेगा,
डाल गले में हाथ किसी के, फ़ोटू खिंचवाएगा।

5 हजार जाएंगे टेंट से, औ सुनना पड़ेगा भाषन,
इतने में आ जाएगा, तेरा महीने भर का राशन।

बीबी बच्चों से और पड़ोसी से बतियाओ हिंदी में,
मजे करो बस यूं ही, नहीं धरा कुछ और जिंदगी में।

-कट्टा कानपुरी

Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative