Wednesday, June 04, 2014

सूरज भाई बाय करने आ गये



जयपुर से गाड़ी निकलते ही सूरज भाई बाय करने आ गये। किरणों का हाथ बढ़ाया मिलाने के लिए। हमने रोका - "अरे भाई शीशा टूटा जो जुर्माना पड़ जायेगा।"

सूरज भाई मुस्कराते हुए 'हैप्पी जर्नी 'बोल के चले गए।



Post Comment

Post Comment

No comments:

Post a Comment

Google Analytics Alternative